युवाओं को रोजगार के लिए सही काउंसलिंग की आवश्यकता : डॉ. उमाशंकर

अरुणेन्द्र श्रीवास्तव ने कहा कि वह बैंकिंग के क्षेत्र में युवाओं को रोजगार की जानकारी देते हैं और उसके लिए हर सम्भव मदद करने को तैयार रहते हैं।

 

8 फरवरी 2020, लखनऊ। युवाओं को रोजगार से कैसे जोड़ा जाय और उनको रोजगा की सही दिशा कैसे और कहां से मिलेगी, इसी विषय पर शनिवार को यूनाइट फाउण्डेशन द्वारा आयोजित यूनाइट मंथन कार्यक्रम में युवाओ और विशेषज्ञों ने अपने विचार रखे। 

 

कार्यक्रम को सम्बोधित करते हुए पूर्व वैज्ञानिक डॉ.उमाशंकर श्रीवास्तव ने कहा कि हमें समाज के भटके हुए युवाओं का मार्गदर्शन करने के लिए उनकी काउंसलिंग करानी चाहिए। इसके लिए उनको स्कूल या कालेज में जाना पड़े तो वह वहां भी जाने के लिए तैयार हैं।
अधिवक्ता योगेश मिश्रा ने कहा कि सनातन शिक्षा पद्धति से युवाओ को रोजगार से जोड़ा जा सकता है। सरकारी तंत्र युवाओं का समय और उनके अभिभावकों का पैसा बर्बाद कर रहा है। ज्योतिष जैसी विधाओ से भी रोजगार मिल सकता है जिससे युवा लाखों रु0 कमा सकते थे। 


अरुणेन्द्र श्रीवास्तव ने कहा कि वह बैंकिंग के क्षेत्र में युवाओं को रोजगार की जानकारी देते हैं और उसके लिए हर सम्भव मदद करने को तैयार रहते हैं। नवनीत कुमार ने कहा कि वह एग्री बिजनेस की दिशा में प्रयासरत हैं जिसमें उनको रोजगार की अच्छी सम्भावना दिखाई दे रही है।

नेहा मिश्रा ने कहा कि शिक्षा, स्वास्थ्य, कृषि,रोजगार, पशुपालन के क्षेत्र में काम करने की जरूरत है। हर व्यक्ति दूसरे को सलाह तो दे देता है लेकिन करने के लिए समय का इंतजार करता है। 


जतिन मेहरा ने कहा कि उनके अनुसार हर काम आत्म विश्वास के साथ करने से ही सफलता मिलेगी। कार्यक्रम को राधेश्याम पाण्डेय, सुशील श्रीवास्तव, यूनाइट फाउण्डेशन के अध्यक्ष डॉ.पी.के. त्रिपाठी, राहुल कुमार, शेषनाथ भारद्वाज, बृजेश कुमार, अमलेश कुमार सिंह ने भी कार्यक्रम में अपने विचार रखे। कार्यक्रम का संचालन यूनाइट फाउण्डेशन के उपाध्यक्ष राधेश्याम दीक्षित ने किया।

जनसत्ता एक्सप्रेस एक स्वतंत्र मंच है। जहां आपको अपनी बात रखने की, अपने विचार रखने की, अपने जज्बात रखने की खुली छूट है। पर एक बात यहां साफ कर दें कि पत्रकारिता के भी कुछ मूलभूल सिद्धांत हैं जिससे परे हम लोग भी नहीं। पर आप जनसत्ता एक्सप्रेस के साथ किसी भी रूप में जुड़ना चाहते हैं तो आपका स्वागत है। हम या आपको उतना ही आदर देंगे, सम्मान देंगे जितना अपने सहकर्मी को। इसलिए आप अपने क्षेत्र की खबरें, वीडियो हमें शेयर करें। हम उन्हें जनसत्ता एक्सप्रेस पर प्रकाशित करेंगे। इसके लिए आप jansattaexp@gmail.com का उपयोग कर सकते हैं। या फिर हमें आप whatsup भी 7678313774 पर कर सकते हैं। फोन तो आप कर ही सकते हैं। इसलिए एक नेक काम के लिए, पत्रकारिता को जिंदा रखने के लिए हमारे साथ, हमारी टीम का हिस्सा बनिए और स्वतंत्र पत्रकार, फोटोग्राफर, स्तंभकार के रूप में अपने अंदर के पत्रकार को जिंदा रखिए। हमारी टीम तो आपके साथ है ही।

राजेश राय, संपादक, जनसत्ता एक्सप्रेस

ट्रेंडिंग