आतिशि, राघव चड्ढा और दिलीप पांडेय को लेकर केजरीवाल कैबिनेट में फंसा पेंच

दिल्ली विधानसभा चुनाव जीतने के बाद अब आम आदमी पार्टी के संयोजक अरविंद केजरीवाल के सामने कैबिनेट साथिय़ों के चुनाव को लेकर मामला फंस गया है।

 

 

 

राजेश राय, नई दिल्ली

दिल्ली विधानसभा चुनाव जीतने के बाद अब आम आदमी पार्टी के संयोजक अरविंद केजरीवाल के सामने कैबिनेट साथिय़ों के चुनाव को लेकर मामला फंस गया है। सभी पूर्व के मंत्रियों ने इस बार भी पताका फहराया है पर 16 नए विधायकों में से तीन आतिशि, राघव चड्ढा और दिलीप पांडेय को अनदेखा नहीं किया जा सकता।

सियासी गलियारे में चर्चा है कि आतिशि को शिक्षा मंत्री बनाया जा सकता है। इसके पीछे जो कारण गिनाए जा रहे हैं वह यह कि दिल्ली में स्कूलों में बदलाव में इसका प्रमुख हाथ रहा है। यानी केजरीवाल सरकार में शिक्षा के मामले में हर बड़े फैसले और बदलाव को आतिशि ने ही रूप दिया है। पर वर्तमान में शिक्षा मंत्री का दायित्य देख रहे मनीष सिसोदिया को भी, उनकी अहमियत को कम करके नहीं आंका जा सकता। एक चर्चा यह भी है कि आतिशि को महिला और बाल विकास का मंत्रालय दे दिया जाए। पर जो भी हो आतिशि, राघव चड्ढा और दिलीप पांडेय में से एक को केजरीवाल कैबिनेट में जगह मिलना तय है।

एक सूत्र ने बताया कि राघव चढ्ढा को पार्टी केंद्रीय स्तर पर जिम्मेदारी दे सकती है। चर्चा यहां तक भी है कि अब केजरीवाल को केंद्रीय स्तर के लिए तैयार किया जाएगा और दिल्ली के सीएम की कुर्सी पर आने वाले दिनों में केजरीवाल के दाए-बाए हाथ के रूप में जाने जाने वाले मनीष सिसोदिया होंगे।

वैसे रविवार को होने जा रहे शपथ ग्रहण में अरविंद केजरीवाल अपनी कैबिनेट में कोई बदलाव नहीं करेंगे। अरविंद केजरीवाल की नई सरकार में सभी पुराने मंत्री दोबारा लिए जाएंगे। अरविंद केजरीवाल का मानना है कि जिस सरकार के काम पर हम दोबारा जीत कर आए हैं, उन्हीं लोगों को दोबारा मंत्री बनाया जाना चाहिए।

सूत्रों के मुताबिक, अरविंद केजरीवाल मंत्रिमंडल में मनीष सिसोदिया, सतेंद्र जैन, गोपाल राय, कैलाश गहलोत, इमरान हुसैन और राजेंद्र पाल गौतम शामिल हो सकते हैं।

जनसत्ता एक्सप्रेस एक स्वतंत्र मंच है। जहां आपको अपनी बात रखने की, अपने विचार रखने की, अपने जज्बात रखने की खुली छूट है। पर एक बात यहां साफ कर दें कि पत्रकारिता के भी कुछ मूलभूल सिद्धांत हैं जिससे परे हम लोग भी नहीं। पर आप जनसत्ता एक्सप्रेस के साथ किसी भी रूप में जुड़ना चाहते हैं तो आपका स्वागत है। हम या आपको उतना ही आदर देंगे, सम्मान देंगे जितना अपने सहकर्मी को। इसलिए आप अपने क्षेत्र की खबरें, वीडियो हमें शेयर करें। हम उन्हें जनसत्ता एक्सप्रेस पर प्रकाशित करेंगे। इसके लिए आप jansattaexp@gmail.com का उपयोग कर सकते हैं। या फिर हमें आप whatsup भी 7678313774 पर कर सकते हैं। फोन तो आप कर ही सकते हैं। इसलिए एक नेक काम के लिए, पत्रकारिता को जिंदा रखने के लिए हमारे साथ, हमारी टीम का हिस्सा बनिए और स्वतंत्र पत्रकार, फोटोग्राफर, स्तंभकार के रूप में अपने अंदर के पत्रकार को जिंदा रखिए। हमारी टीम तो आपके साथ है ही।

राजेश राय, संपादक, जनसत्ता एक्सप्रेस

ट्रेंडिंग