PK:  बिहार में एक नया मोर्चा खड़ा करने में जुटे प्रशांत किशोर

पटना। दिल्ली विधानसभा में शानदार जीत और बिहार की राजनीति में नीतीश की उपेक्षा से परे चुनावी रणनीतिकार प्रशांत किशोर उर्फ पीके अब बिहार की

 

पटना। दिल्ली विधानसभा में शानदार जीत और बिहार की राजनीति में नीतीश की उपेक्षा से परे चुनावी रणनीतिकार प्रशांत किशोर उर्फ पीके अब बिहार की राजनीति को नई दिशा देने की ओर अग्रसर हैं। सूत्रों ने बताया कि वे बिहार में तीसरा मोर्चा खड़ा करना चाहते हैं। एक मोर्चा नीतीश और भाजपा का है वहीं दूसरा लालू की पार्टी राजद, कांग्रेस और अन्य दलों का है। पीके ने इन दोनों ही गठबंधनों से हटकर अपनी नई राह बनाने की ठानी है। इसकी वे शुरुआत कर चुके हैं। गुरुवार को बात बिहार की कार्यक्रम से इसकी उन्होंने शुरुआत की जिसमें पहले ही दिन तीन लाख से अधिक युवा जुड़े।

इसी बीच प्रशांत किशोर ने पटना में हिंदुस्तानी अवाम मोर्चा (HAM) के अध्यक्ष जीतन राम मांझी, विकासशील इंसान पार्टी (VIP) के मुकेश सहनी और राष्ट्रीय लोक समता पार्टी (RLSP) के अध्यक्ष उपेंद्र कुशवाहा ने प्रशांत किशोर से मुलाकात की।

सूत्रों के मुताबिक प्रशांत के दरबार से ये तीनों नेता खाली हाथ लौटे हैं। मुलाकात के दौरान प्रशांत ने राष्ट्रीय जनता दल (RJD) की अगुआई वाले महागठबंधन के साथ जुड़ने का प्रस्ताव ठुकरा दिया है।

बैठक में प्रशांत किशोर ने महागठबंधन से जुड़ने के तीनों नेताओं के प्रस्ताव को खारिज कर दिया। इस बैठक में प्रशांत को कई प्रस्ताव दिए गए थे लेकिन बताया जा रहा है कि उन्होंने सभी प्रस्तावों को नामंजूर कर दिया। प्रशांत ने पहले ही ऐलान कर रखा है कि वह किसी गठबंधन या पार्टी के साथ नहीं जाएंगे।


इस बीच प्रशांत किशोर का कार्यक्रम ‘बात बिहार की’ लॉन्चिंग के पहले ही दिन हिट हो गया। गुरुवार शाम 5 बजे तक इस कार्यक्रम से जुड़ने वाले लोगों की संख्या तीन लाख 32 हजार को पार कर चुकी थी। इस कार्यक्रम से जुड़ने वालों की संख्या पहले ही दिन 3,32,270 तक पहुंच गई।

 

जनसत्ता एक्सप्रेस एक स्वतंत्र मंच है। जहां आपको अपनी बात रखने की, अपने विचार रखने की, अपने जज्बात रखने की खुली छूट है। पर एक बात यहां साफ कर दें कि पत्रकारिता के भी कुछ मूलभूल सिद्धांत हैं जिससे परे हम लोग भी नहीं। पर आप जनसत्ता एक्सप्रेस के साथ किसी भी रूप में जुड़ना चाहते हैं तो आपका स्वागत है। हम या आपको उतना ही आदर देंगे, सम्मान देंगे जितना अपने सहकर्मी को। इसलिए आप अपने क्षेत्र की खबरें, वीडियो हमें शेयर करें। हम उन्हें जनसत्ता एक्सप्रेस पर प्रकाशित करेंगे। इसके लिए आप jansattaexp@gmail.com का उपयोग कर सकते हैं। या फिर हमें आप whatsup भी 7678313774 पर कर सकते हैं। फोन तो आप कर ही सकते हैं। इसलिए एक नेक काम के लिए, पत्रकारिता को जिंदा रखने के लिए हमारे साथ, हमारी टीम का हिस्सा बनिए और स्वतंत्र पत्रकार, फोटोग्राफर, स्तंभकार के रूप में अपने अंदर के पत्रकार को जिंदा रखिए। हमारी टीम तो आपके साथ है ही।

राजेश राय, संपादक, जनसत्ता एक्सप्रेस

ट्रेंडिंग