‘खेलो इंडिया यूनिवर्सिटी गेम्‍स’ का शुभारंभ करेंगे पीएम

नई दिल्ली।प्रधानमंत्री श्री नरेन्‍द्र मोदी 22 फरवरी, 2020 को देश में पहली बार आयोजित हो रहे ‘खेलो इंडिया यूनिवर्सिटी गेम्‍स’ के उद्घाटन समारोह को संबोधित करेंगे।

 

नई दिल्ली।प्रधानमंत्री श्री नरेन्‍द्र मोदी 22 फरवरी, 2020 को देश में पहली बार आयोजित हो रहे ‘खेलो इंडिया यूनिवर्सिटी गेम्‍स’ के उद्घाटन समारोह को संबोधित करेंगे। यह आयोजन भुवनेश्‍वर में होगा।

श्री मोदी वीडियो कॉन्‍फ्रेंसिंग के जरिए ‘खेलो इंडिया यूनिवर्सिटी गेम्‍स’ का शुभारंभ करेंगे।

‘खेलो इंडिया यूनिवर्सिटी गेम्‍स’ का आयोजन ओडिशा की सरकार के सहयोग से भारत सरकार द्वारा किया जा रहा है।

‘खेलो इंडिया’ कार्यक्रम दरअसल प्रधानमंत्री श्री नरेन्‍द्र मोदी की सोच का ही परिणाम है जिसका मुख्‍य उद्देश्‍य देश में खेले जाने वाले सभी तरह के खेलों के लिए बेहतरीन सुविधाएं स्‍थापित कर जमीनी स्‍तर पर भारत में खेल-कूद की संस्‍कृति को पुनर्जीवित कर भारत को खेल-कूद के क्षेत्र में एक दिग्‍गज राष्ट्र के रूप में स्थापित करना है।

‘खेलो इंडिया यूनिवर्सिटी गेम्‍स’ का आयोजन भुवनेश्‍वर में 22 फरवरी से लेकर 1 मार्च, 2020 तक किया जाएगा।

यह भारत में विश्‍वविद्यालय स्‍तर पर अब तक का सबसे बड़ा खेल आयोजन है और इसमें देश भर के 150 से भी अधिक विश्‍वविद्यालयों के लगभग 3,500 एथलीट भाग लेंगे।

 

इस दौरान तीरंदाजी  एथलेटिक्स,  मुक्केबाजी,  तलवारबाजी,  जूडो,  तैराकी,  भारोत्तोलन,  कुश्ती,  बैडमिंटन,  बास्केटबॉल, फुटबॉल, हॉकी, टेबल टेनिस, टेनिस, वॉलीबॉल, रग्बी और कबड्डी सहित कुल 17 खेलों का आयोजन होगा।

 

जनसत्ता एक्सप्रेस एक स्वतंत्र मंच है। जहां आपको अपनी बात रखने की, अपने विचार रखने की, अपने जज्बात रखने की खुली छूट है। पर एक बात यहां साफ कर दें कि पत्रकारिता के भी कुछ मूलभूल सिद्धांत हैं जिससे परे हम लोग भी नहीं। पर आप जनसत्ता एक्सप्रेस के साथ किसी भी रूप में जुड़ना चाहते हैं तो आपका स्वागत है। हम या आपको उतना ही आदर देंगे, सम्मान देंगे जितना अपने सहकर्मी को। इसलिए आप अपने क्षेत्र की खबरें, वीडियो हमें शेयर करें। हम उन्हें जनसत्ता एक्सप्रेस पर प्रकाशित करेंगे। इसके लिए आप jansattaexp@gmail.com का उपयोग कर सकते हैं। या फिर हमें आप whatsup भी 7678313774 पर कर सकते हैं। फोन तो आप कर ही सकते हैं। इसलिए एक नेक काम के लिए, पत्रकारिता को जिंदा रखने के लिए हमारे साथ, हमारी टीम का हिस्सा बनिए और स्वतंत्र पत्रकार, फोटोग्राफर, स्तंभकार के रूप में अपने अंदर के पत्रकार को जिंदा रखिए। हमारी टीम तो आपके साथ है ही।

राजेश राय, संपादक, जनसत्ता एक्सप्रेस