Trump in india: ट्रंप मोदी के साथ मिलकर करेंगे बड़ी डील

नई दिल्ली। अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप भारत दौरे पर आ रहे हैं। इस दौरान भारत में एक बड़े डील की संभावना है। हालांकि अपने पहले भारत दौरे से चार दिन

 

नई दिल्ली। अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप भारत दौरे पर आ रहे हैं। इस दौरान भारत में एक बड़े डील की संभावना है। हालांकि अपने पहले भारत दौरे से चार दिन पहले अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने शिकायती लहजे में कहा है कि कई साल से ऊंचे शुल्क लगाकर भारत हमारे कारोबार को काफी नुकसान पहुंच रहा है।

ट्रंप ने कहा कि मैं प्रधानमंत्री मोदी से अमेरिकी उत्पादों को बढ़ावा देने के लिए कारोबारी बातचीत करूंगा। अमेरिकी राष्ट्रपति ने संकेत दिया कि उनके दो दिनी इस दौरे में बड़ा कारोबारी समझौता भी हो सकता है।

24-25 फरवरी को अहमदाबाद, आगरा और दिल्ली की यात्रा पर आ रहे ट्रंप ने कोलोराडो में कीप अमेरिका ग्रेट रैली में कहा, मैं अगले हफ्ते भारत जा रहा हूं और हम कारोबार पर बातचीत करेंगे। हम थोड़ी सी सामान्य बातचीत करेंगे फिर थोड़ा कारोबार के बारे में बात होगी। भारत हम पर ऊंचा शुल्क थोपता है, जो दुनिया में सबसे ज्यादा है। इससे हमें नुकसान हो रहा है। 



ट्रंप ने लास वेगास में एक कार्यक्रम को संबोधित करते हुए उम्मीद जताई कि हम भारत जा रहे हैं और वहां बड़ा समझौता कर सकते हैं। हो सकता है कि इसकी प्रक्रिया धीमी हो, मगर हम चुनाव के बाद इसमें तेजी लाएंगे। मेरा मानना है कि यह भी हो सकता है। हालांकि, ट्रंप ने कहा कि लोग पसंद करें या न करें, हमारे लिए अमेरिका फर्स्ट की नीति सबसे ऊपर है। गौरतलब है कि ट्रंप ने हाल ही में कहा था कि हम भारत से व्यापार सौदा कर सकते हैं, लेकिन अभी नहीं, मैं इसे बाद के लिए बचा रहा हूं।

अपने पहले भारत दौरे से चार दिन पहले अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने शिकायती लहजे में कहा है कि कई साल से ऊंचे शुल्क लगाकर भारत हमारे कारोबार को काफी नुकसान पहुंच रहा है।

विस्तार

अपने पहले भारत दौरे से चार दिन पहले अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने शिकायती लहजे में कहा है कि कई साल से ऊंचे शुल्क लगाकर भारत हमारे कारोबार को काफी नुकसान पहुंच रहा है। ट्रंप ने कहा कि मैं प्रधानमंत्री मोदी से अमेरिकी उत्पादों को बढ़ावा देने के लिए कारोबारी बातचीत करूंगा। अमेरिकी राष्ट्रपति ने संकेत दिया कि उनके दो दिनी इस दौरे में बड़ा कारोबारी समझौता भी हो सकता है।

24-25 फरवरी को अहमदाबाद, आगरा और दिल्ली की यात्रा पर आ रहे ट्रंप ने कोलोराडो में कीप अमेरिका ग्रेट रैली में कहा, मैं अगले हफ्ते भारत जा रहा हूं और हम कारोबार पर बातचीत करेंगे। हम थोड़ी सी सामान्य बातचीत करेंगे फिर थोड़ा कारोबार के बारे में बात होगी। भारत हम पर ऊंचा शुल्क थोपता है, जो दुनिया में सबसे ज्यादा है। इससे हमें नुकसान हो रहा है। 

ट्रंप ने लास वेगास में एक कार्यक्रम को संबोधित करते हुए उम्मीद जताई कि हम भारत जा रहे हैं और वहां बड़ा समझौता कर सकते हैं। हो सकता है कि इसकी प्रक्रिया धीमी हो, मगर हम चुनाव के बाद इसमें तेजी लाएंगे। मेरा मानना है कि यह भी हो सकता है। हालांकि, ट्रंप ने कहा कि लोग पसंद करें या न करें, हमारे लिए अमेरिका फर्स्ट की नीति सबसे ऊपर है। गौरतलब है कि ट्रंप ने हाल ही में कहा था कि हम भारत से व्यापार सौदा कर सकते हैं, लेकिन अभी नहीं, मैं इसे बाद के लिए बचा रहा हूं।

 

अपने पहले भारत दौरे से चार दिन पहले अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने शिकायती लहजे में कहा है कि कई साल से ऊंचे शुल्क लगाकर भारत हमारे कारोबार को काफी नुकसान पहुंच रहा है।

विस्तार

अपने पहले भारत दौरे से चार दिन पहले अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने शिकायती लहजे में कहा है कि कई साल से ऊंचे शुल्क लगाकर भारत हमारे कारोबार को काफी नुकसान पहुंच रहा है। ट्रंप ने कहा कि मैं प्रधानमंत्री मोदी से अमेरिकी उत्पादों को बढ़ावा देने के लिए कारोबारी बातचीत करूंगा। अमेरिकी राष्ट्रपति ने संकेत दिया कि उनके दो दिनी इस दौरे में बड़ा कारोबारी समझौता भी हो सकता है।

24-25 फरवरी को अहमदाबाद, आगरा और दिल्ली की यात्रा पर आ रहे ट्रंप ने कोलोराडो में कीप अमेरिका ग्रेट रैली में कहा, मैं अगले हफ्ते भारत जा रहा हूं और हम कारोबार पर बातचीत करेंगे। हम थोड़ी सी सामान्य बातचीत करेंगे फिर थोड़ा कारोबार के बारे में बात होगी। भारत हम पर ऊंचा शुल्क थोपता है, जो दुनिया में सबसे ज्यादा है। इससे हमें नुकसान हो रहा है। 

ट्रंप ने लास वेगास में एक कार्यक्रम को संबोधित करते हुए उम्मीद जताई कि हम भारत जा रहे हैं और वहां बड़ा समझौता कर सकते हैं। हो सकता है कि इसकी प्रक्रिया धीमी हो, मगर हम चुनाव के बाद इसमें तेजी लाएंगे। मेरा मानना है कि यह भी हो सकता है। हालांकि, ट्रंप ने कहा कि लोग पसंद करें या न करें, हमारे लिए अमेरिका फर्स्ट की नीति सबसे ऊपर है। गौरतलब है कि ट्रंप ने हाल ही में कहा था कि हम भारत से व्यापार सौदा कर सकते हैं, लेकिन अभी नहीं, मैं इसे बाद के लिए बचा रहा हूं।

 

जनसत्ता एक्सप्रेस एक स्वतंत्र मंच है। जहां आपको अपनी बात रखने की, अपने विचार रखने की, अपने जज्बात रखने की खुली छूट है। पर एक बात यहां साफ कर दें कि पत्रकारिता के भी कुछ मूलभूल सिद्धांत हैं जिससे परे हम लोग भी नहीं। पर आप जनसत्ता एक्सप्रेस के साथ किसी भी रूप में जुड़ना चाहते हैं तो आपका स्वागत है। हम या आपको उतना ही आदर देंगे, सम्मान देंगे जितना अपने सहकर्मी को। इसलिए आप अपने क्षेत्र की खबरें, वीडियो हमें शेयर करें। हम उन्हें जनसत्ता एक्सप्रेस पर प्रकाशित करेंगे। इसके लिए आप jansattaexp@gmail.com का उपयोग कर सकते हैं। या फिर हमें आप whatsup भी 7678313774 पर कर सकते हैं। फोन तो आप कर ही सकते हैं। इसलिए एक नेक काम के लिए, पत्रकारिता को जिंदा रखने के लिए हमारे साथ, हमारी टीम का हिस्सा बनिए और स्वतंत्र पत्रकार, फोटोग्राफर, स्तंभकार के रूप में अपने अंदर के पत्रकार को जिंदा रखिए। हमारी टीम तो आपके साथ है ही।

राजेश राय, संपादक, जनसत्ता एक्सप्रेस

ट्रेंडिंग