कोरोना वायरस से नोएडा में दहशत, एक स्कूल बंद

नोएडा। कोरोना वायरस का कहर अब भारत पर भी बरपने जा रहा है। वहीं नोएडा में एक नए मामले ने नोएडा वासियों को दहशत में ला दिया है। नोएडा का एक चर्चित स्कूल श्रीराम मिलेनियनम भी

 

नोएडा। कोरोना वायरस का कहर अब भारत पर भी बरपने जा रहा है। वहीं नोएडा में एक नए मामले ने नोएडा वासियों को दहशत में ला दिया है। नोएडा का एक चर्चित स्कूल श्रीराम मिलेनियनम भी कोरोना के कारण बंद हो गया है।

नोएडा के सीएमओ ने कहा कि दो स्कूली बच्चों के सैंपल को जांच के लिए भेजा गया है। उन्होंने बताया, 'नोएडा में अब तक 40 लोगों का टेस्ट हुआ है। सब नेगेटिव है। पांच लोगों का सैंपल जांच के लिए भेजा गया है।

सीएमओ अनुराग भार्गव ने कहा कि नोएडा और ग्रेटर नोएडा की 1000 से ज्यादा कंपनियों दिया नोटिस दिया है। इन्हें आदेश दिया गया है कि जो लोग विदेश से लौट रहे हैं उनके बारे में स्वास्थ्य विभाग को सूचना दें। इस नोटिस में ईरान, सिंगापुर, चीन समेत 13 देशों से लौटने वाले लोगों की स्क्रीनिंग का आदेश दिया गया है।

 

 

आपको बता दें कि सोमवार को दिल्ली, तेलंगाना और जयपुर में इस वायरस से संक्रमित तीन नए मरीजों की पुष्टि के बाद मंगलवार को आगरा में कोरोना से संक्रमित एक ही परिवार के छह लोगों में लक्षण मिलने से हड़कंप मच गया। संक्रमित व्यक्ति  आगरा से लेकर दिल्ली तक जहां जहां गया, वहां लोगों की जांच की जा रही है। वायरस के बढ़ते प्रकोप के मद्देनजर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ट्वीट कर कहा कि लोगों से कहा घबराने की जरूरत नहीं है। कई मंत्रालय और राज्य मिलकर काम कर रहे हैं। हमने इसकी तैयारियों को लेकर व्यापक समीक्षा की है। 

कैबिनेट सचिव ने कोरोनावायरस की ताजा स्थिति, एहतियात और उपाय को लेकर बैठक बुलाई है। इस बैठक में केंद्रीय स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण सचिव प्रीती सूदन, संयुक्त सचिव लव अग्रवाल, निदेशक पी रवीन्द्रन समेत तमाम अधिकारी मौजूद हैं।

सूत्रों के मुताबिक, दक्षिण दिल्ली के एक होटल में ठहरे 24 लोगों को एहतियातन भारत-तिब्बत सीमा पुलिस (आईटीबीपी) के कैंप में भेजा गया है। इनमें से तीन भारतीय हैं, जबकि 21 इटली के रहने वाले हैं। इन सभी की चिकित्सा जांच का परिणाम बुधवार को आएगा। ये सभी लोग दो सप्ताह से भारत में थे। फिलहाल ये लोग वसंत कुंज के एक होटल में ठहरे हुए थे। इनमें 13 महिलाएं और 8 पुरुष हैं। तीनों गाइड पुरुष हैं। इन सभी लोगों को केंद्र सरकार ने आईटीबीपी के सेंटर पर भेजा है। केंद्र सरकार ने इस बाबत एक केन्द्रीय हेल्पलाइन नंबर 011-23978046 पर जारी की है जहां आप अपनी बात नोट करा सकते हैं।  

 

 

 

जनसत्ता एक्सप्रेस एक स्वतंत्र मंच है। जहां आपको अपनी बात रखने की, अपने विचार रखने की, अपने जज्बात रखने की खुली छूट है। पर एक बात यहां साफ कर दें कि पत्रकारिता के भी कुछ मूलभूल सिद्धांत हैं जिससे परे हम लोग भी नहीं। पर आप जनसत्ता एक्सप्रेस के साथ किसी भी रूप में जुड़ना चाहते हैं तो आपका स्वागत है। हम या आपको उतना ही आदर देंगे, सम्मान देंगे जितना अपने सहकर्मी को। इसलिए आप अपने क्षेत्र की खबरें, वीडियो हमें शेयर करें। हम उन्हें जनसत्ता एक्सप्रेस पर प्रकाशित करेंगे। इसके लिए आप jansattaexp@gmail.com का उपयोग कर सकते हैं। या फिर हमें आप whatsup भी 7678313774 पर कर सकते हैं। फोन तो आप कर ही सकते हैं। इसलिए एक नेक काम के लिए, पत्रकारिता को जिंदा रखने के लिए हमारे साथ, हमारी टीम का हिस्सा बनिए और स्वतंत्र पत्रकार, फोटोग्राफर, स्तंभकार के रूप में अपने अंदर के पत्रकार को जिंदा रखिए। हमारी टीम तो आपके साथ है ही।

राजेश राय, संपादक, जनसत्ता एक्सप्रेस

ट्रेंडिंग