देश में बढ़ रहे कोरोना के मरीज, संख्या 60 पहुंची

पुणे। देश में कोरोना वायरस से पीड़ितों की संख्या में लगातार बढ़ोतरी होती जा रही है। पुणे में एक नए मामले के बाद इसकी संख्या अब 60 पहुंच गई है। पर राहत की बात यह है कि भारत में इस कोरोना

 

पुणे। देश में कोरोना वायरस से पीड़ितों की संख्या में लगातार बढ़ोतरी होती जा रही है। पुणे में एक नए मामले के बाद इसकी संख्या अब 60 पहुंच गई है। पर राहत की बात यह है कि भारत में इस कोरोना वायरस से अभी तक किसी मरीज की मौत नहीं हुई है जबकि 3 केरल के मरीज ठीक होकर घर वापसी कर चुके है।

केरल में आठ, कर्नाटक और महाराष्ट्र के पुणे में मंगलवार को कोरोना वायरस से संक्रमण के तीन-तीन मामलों की पुष्टि हुई।

मिली जानकारी के अनुसार दोनों को पुणे के नायडू अस्पताल में भर्ती करवाया जा चुका है। उनके परिवार के अन्‍य लोगों के नमूने भी जांच के लिए राष्ट्रीय विषाणु विज्ञान संस्थान में भेजे जा चुके हैं। 

डिवीजनल कमिश्नर दीपक म्हाईसेकर से मिली जानकारी के अनुसार दोनों रोगी दुबई से एक मार्च को मुंबई हवाई अड्डे पर उतरे थे ये 40 लोगों के एक समूह के साथ थे। इन्होंने मुंबई हवाई अड्डे पर उतरकर ओला कैब ली थी। दोनों जब मुंबई पहुंचे थे तब तक ठीक थे इनमें किसी प्रकार संक्रमण का कोई लक्षण नहीं था। वैसे भी दुबई कोरोना वायरस संक्रमित क्षेत्रों की सूची से बाहर है। फिलहाल ओला कैब चालक और इन दोनों रोगियों के परिवार के तीन लोगों को नायडू अस्पताल में भर्ती करवा दिया गया है। 

जनसत्ता एक्सप्रेस एक स्वतंत्र मंच है। जहां आपको अपनी बात रखने की, अपने विचार रखने की, अपने जज्बात रखने की खुली छूट है। पर एक बात यहां साफ कर दें कि पत्रकारिता के भी कुछ मूलभूल सिद्धांत हैं जिससे परे हम लोग भी नहीं। पर आप जनसत्ता एक्सप्रेस के साथ किसी भी रूप में जुड़ना चाहते हैं तो आपका स्वागत है। हम या आपको उतना ही आदर देंगे, सम्मान देंगे जितना अपने सहकर्मी को। इसलिए आप अपने क्षेत्र की खबरें, वीडियो हमें शेयर करें। हम उन्हें जनसत्ता एक्सप्रेस पर प्रकाशित करेंगे। इसके लिए आप jansattaexp@gmail.com का उपयोग कर सकते हैं। या फिर हमें आप whatsup भी 7678313774 पर कर सकते हैं। फोन तो आप कर ही सकते हैं। इसलिए एक नेक काम के लिए, पत्रकारिता को जिंदा रखने के लिए हमारे साथ, हमारी टीम का हिस्सा बनिए और स्वतंत्र पत्रकार, फोटोग्राफर, स्तंभकार के रूप में अपने अंदर के पत्रकार को जिंदा रखिए। हमारी टीम तो आपके साथ है ही।

राजेश राय, संपादक, जनसत्ता एक्सप्रेस

ट्रेंडिंग