राहुल बोले, सिंधिया के दिल में कुछ और दिमाग में कुछ और

नई दिल्ली। कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी ज्योतिरादित्य सिंधिया के कांग्रेस छोड़ने से दुखी हैं। हालांकि उन्होंने कहा कि भाजपा में उन्हें वह सम्मान नहीं मिलेगा जो कांग्रेस में उन्हें मिलता था। मैं सिंधिया को कॉलेज के दिनों से जानता

 

नई दिल्ली। कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी ज्योतिरादित्य सिंधिया के कांग्रेस छोड़ने से दुखी हैं। हालांकि उन्होंने कहा कि भाजपा में उन्हें वह सम्मान नहीं मिलेगा जो कांग्रेस में उन्हें मिलता था। मैं सिंधिया को कॉलेज के दिनों से जानता हूं। वह अपने राजनीतिक भविष्य को लेकर चिंतित हो गए और विचारधारा से समझौता कर आरएसएस के साथ चले गए।

राहुल गांधी ने कहा कि सच्चाई यह है कि उन्होंने भाजपा में न तो सम्मान मिलेगा और न ही संतुष्टि। मैं जानता हूं कि उनके दिल में क्या है और वह क्या बोल रहे हैं। 

राज्यसभा के सवाल पर राहुल गांधी ने कहा कि मैं कांग्रेस का अध्यक्ष नहीं हूं। उम्मीदवारों का चयन मैं नहीं करता। मैं देश के युवाओं को अर्थव्यवस्था के हालात के बारे में बता रहा हूं।


इससे पहले राहुल गांधी ने इस बात का खंडन किया था कि कांग्रेस से इस्तीफा देने से पहले सिंधिया ने सोनिया गांधी और उनसे मिलने की कोशिश की थी, लेकिन उन्हें समय नहीं दिया गया। उन्होंने कहा कि ज्योतिरादित्य सिंधिया कांग्रेस में इकलौते ऐसे शख्स थे, जो कभी भी मेरे घर आ सकते थे। 

जनसत्ता एक्सप्रेस एक स्वतंत्र मंच है। जहां आपको अपनी बात रखने की, अपने विचार रखने की, अपने जज्बात रखने की खुली छूट है। पर एक बात यहां साफ कर दें कि पत्रकारिता के भी कुछ मूलभूल सिद्धांत हैं जिससे परे हम लोग भी नहीं। पर आप जनसत्ता एक्सप्रेस के साथ किसी भी रूप में जुड़ना चाहते हैं तो आपका स्वागत है। हम या आपको उतना ही आदर देंगे, सम्मान देंगे जितना अपने सहकर्मी को। इसलिए आप अपने क्षेत्र की खबरें, वीडियो हमें शेयर करें। हम उन्हें जनसत्ता एक्सप्रेस पर प्रकाशित करेंगे। इसके लिए आप jansattaexp@gmail.com का उपयोग कर सकते हैं। या फिर हमें आप whatsup भी 7678313774 पर कर सकते हैं। फोन तो आप कर ही सकते हैं। इसलिए एक नेक काम के लिए, पत्रकारिता को जिंदा रखने के लिए हमारे साथ, हमारी टीम का हिस्सा बनिए और स्वतंत्र पत्रकार, फोटोग्राफर, स्तंभकार के रूप में अपने अंदर के पत्रकार को जिंदा रखिए। हमारी टीम तो आपके साथ है ही।

राजेश राय, संपादक, जनसत्ता एक्सप्रेस

ट्रेंडिंग