प्रवासी मजदूरों को राहत दिलाए सरकार

कांग्रेस नेता राहुल गांधी व महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा ने कहा

नई दिल्ली।

कांग्रेस कार्य समिति की गुरुवार को वीडियो कांफ्रेसिंग के माध्य मे बैठक हुई। इसमें कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी और पार्टी महासचिव प्रियंका गांधी ने कहा का देश के अलग-अलग हिस्सों में फंसे प्रवासी मजदूरों को राहत पहुंचाने के लिए सरकार को प्राथमिकता देनी चाहिए। इसके अलावा अन्य कार्य भी करना चाहिए।

बैठक के बारे में कांग्रेस पार्टी के मुख्य प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने कहा कि वीडियो कांफ्रेंसिंग के माध्यम से हुई बैठक में राहुल गांधी ने एक बार फिर कोरोना मुक्त इलाकों में कारोबारी गतिविधियों को शुरू करने की जरूरत बताया। उन्होंने कहा कि जहां पर कोरोना मुक्त क्षेत्र हैं वहा कारोबार शुरू किया जाए जिससे लोगों को राहत मिलेगी। वहीं जहां पर कोरोना का संक्रमण है वहां प्रभावी तरीके से कार्य किया जाए।  प्रियंका गांधी ने कहा कि कोरोना वायरस से लड़ाई में करूणा महत्वपूर्ण है और पीड़ित के प्रति शत्रुता का भाव नहीं होना चाहिए। साथ ही समय बीतने के साथ ही जरूरी जांच और ऐहतियात बरतने के बाद प्रवासी कामगारों को घर लौटने की इजाजत देनी होगी। वरिष्ठ नेता अहमद पटेल ने कहा कि 'कोरोना के खिलाफ लड़ने के लिए हालात संतोषजनक नहीं हैं। भारत सरकार को राज्यों के सामने पैदा हुए वित्तीय संकट और स्वास्थ्यकर्मियों के सामने पेश आ रही चुनौतियों का समाधान करना होगा। कई वरिष्ठ नेताओं ने बैठक में अपने विचार रखे।

जनसत्ता एक्सप्रेस एक स्वतंत्र मंच है। जहां आपको अपनी बात रखने की, अपने विचार रखने की, अपने जज्बात रखने की खुली छूट है। पर एक बात यहां साफ कर दें कि पत्रकारिता के भी कुछ मूलभूल सिद्धांत हैं जिससे परे हम लोग भी नहीं। पर आप जनसत्ता एक्सप्रेस के साथ किसी भी रूप में जुड़ना चाहते हैं तो आपका स्वागत है। हम या आपको उतना ही आदर देंगे, सम्मान देंगे जितना अपने सहकर्मी को। इसलिए आप अपने क्षेत्र की खबरें, वीडियो हमें शेयर करें। हम उन्हें जनसत्ता एक्सप्रेस पर प्रकाशित करेंगे। इसके लिए आप jansattaexp@gmail.com का उपयोग कर सकते हैं। या फिर हमें आप whatsup भी 7678313774 पर कर सकते हैं। फोन तो आप कर ही सकते हैं। इसलिए एक नेक काम के लिए, पत्रकारिता को जिंदा रखने के लिए हमारे साथ, हमारी टीम का हिस्सा बनिए और स्वतंत्र पत्रकार, फोटोग्राफर, स्तंभकार के रूप में अपने अंदर के पत्रकार को जिंदा रखिए। हमारी टीम तो आपके साथ है ही।

राजेश राय, संपादक, जनसत्ता एक्सप्रेस

ट्रेंडिंग