मुम्बई में 53 पत्रकार निकले कोरोना पॉजिटिव


मुम्बई। कोराना का कहर पूरे विश्व में जारी है। भारत में महाराष्ट्र व दिल्ली सबसे अधिक चपेट में है। महाराष्ट्र में तो कोरोना की चपेट में अलग-अलग संस्थानों से जुड़े 53 पत्रकार भी कोरोना पॉजिटिव निकले हैं

 

मुम्बई। कोराना का कहर पूरे विश्व में जारी है। भारत में महाराष्ट्र व दिल्ली सबसे अधिक चपेट में है। महाराष्ट्र में तो कोरोना की चपेट में अलग-अलग संस्थानों से जुड़े 53 पत्रकार भी कोरोना पॉजिटिव निकले हैं। इनमें रिपोर्टर, फोटो ग्राफर व इलेक्ट्रॉनिक चैनल के रिपोर्टर भी शामिल हैं। 
कोरोना से जुड़ी खबरों को लोगों तक पहुंचाने के लिए पुलिसकर्मी, स्वास्थ्यकर्मियों के साथ पत्रकार भी फिल्ड में है। वहीं कोने-कोने से जानकारी इकट्ठा करके लोगों तक पहुंचा रहे हैं। इसी में मुम्बई से जो ख़बर सामने आई है हर कोई हैरान है और पत्रकारों में हड़कम्प मचा है। जिनमें कोरोना पॉजिटिव निकला है उसमें चौकाने वाली बात यह है कि 99 प्रतिशत लोगों में कोई लक्षण ही नहीं दिखा। 

एक पत्रकार संगठन के अध्यक्ष विनोद जगदाले ने बताया कि 167 पत्रकारों का कोरोना टेस्ट कराया गया था। इन सबकी टेस्ट रिपोर्ट आई, 53 मीडियाकर्मियों की रिपोर्ट पॉजिटिव आई है। इसको देखते हुए सभी पत्रकारों की जांच कराने की तैयारी चल रही है। 
कुछ पत्रकारों ने गृहमंत्री अनिल देशमुख का विशेष इंटरव्यू भी किया था। संक्रमित पत्रकारों ने बताया की उनमें कोई लक्षण नहीं है और यह नहीं पता की उन्हें कैसे संक्रमण हुआ। सभी पत्रकार अपने परिवार के सदस्यों को लेकर चिंतित हैं। 
  

जनसत्ता एक्सप्रेस एक स्वतंत्र मंच है। जहां आपको अपनी बात रखने की, अपने विचार रखने की, अपने जज्बात रखने की खुली छूट है। पर एक बात यहां साफ कर दें कि पत्रकारिता के भी कुछ मूलभूल सिद्धांत हैं जिससे परे हम लोग भी नहीं। पर आप जनसत्ता एक्सप्रेस के साथ किसी भी रूप में जुड़ना चाहते हैं तो आपका स्वागत है। हम या आपको उतना ही आदर देंगे, सम्मान देंगे जितना अपने सहकर्मी को। इसलिए आप अपने क्षेत्र की खबरें, वीडियो हमें शेयर करें। हम उन्हें जनसत्ता एक्सप्रेस पर प्रकाशित करेंगे। इसके लिए आप jansattaexp@gmail.com का उपयोग कर सकते हैं। या फिर हमें आप whatsup भी 7678313774 पर कर सकते हैं। फोन तो आप कर ही सकते हैं। इसलिए एक नेक काम के लिए, पत्रकारिता को जिंदा रखने के लिए हमारे साथ, हमारी टीम का हिस्सा बनिए और स्वतंत्र पत्रकार, फोटोग्राफर, स्तंभकार के रूप में अपने अंदर के पत्रकार को जिंदा रखिए। हमारी टीम तो आपके साथ है ही।

राजेश राय, संपादक, जनसत्ता एक्सप्रेस

ट्रेंडिंग