राहुल के पीएम पर तंज पर अमित शाह का पलटवार


नई दिल्ली । भारत और चीन के बीच तनाव को लेकर सर्वदलीय बैठक के बाद भी कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी सरकार पर हमलावर हैं. राहुल गांधी की ओर से बार-बार उठाए जा रहे सवालों के बीच गृह मंत्री अमित शाह ने गलवान घाटी में झड़प के दौरान घायल हुए एक

गृह मंत्री अमित शाह ने कहा कि ऐसे समय में जब पूरा देश एकजुट है. राहुल गांधी को भी ओछी राजनीति से ऊपर उठना चाहिए. राहुल गांधी को भी राष्ट्रहित के साथ मजबूती से खड़े होना चाहिए.

 

नई दिल्ली । भारत और चीन के बीच तनाव को लेकर सर्वदलीय बैठक के बाद भी कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी सरकार पर हमलावर हैं. राहुल गांधी की ओर से बार-बार उठाए जा रहे सवालों के बीच गृह मंत्री अमित शाह ने गलवान घाटी में झड़प के दौरान घायल हुए एक सैनिक के पिता का वीडियो रिट्वीट किया है. शाह ने वीडियो रिट्वीट करते हुए कहा है कि एक बहादुर सैनिक के पिता का राहुल गांधी को संदेश साफ है.

गृह मंत्री अमित शाह ने कहा कि ऐसे समय में जब पूरा देश एकजुट है. राहुल गांधी को भी ओछी राजनीति से ऊपर उठना चाहिए. राहुल गांधी को भी राष्ट्रहित के साथ मजबूती से खड़े होना चाहिए. गौरतलब है कि गृह मंत्री अमित शाह ने एक घायल सैनिक के पिता का वीडियो रिट्वीट किया, जिसमें बहादुर सैनिक के पिता यह कह रहे हैं कि भारतीय सेना एक मजबूत सेना है.

घायल सैनिक के पिता ने कहा है कि भारतीय सेना चीन क्या, किसी भी देश की सेना को हरा सकती है. मैं राहुल गांधी से कहूंगा कि वे इस पर राजनीति ना करें. मेरा बेटा सेना में लड़ा है और ठीक होकर फिर लड़ेगा. बता दें कि गलवान घाटी में हुई झड़प की घटना के बाद से ही इस मुद्दे को लेकर सरकार के खिलाफ मोर्चा खोल रखा है.

 

सर्वदलीय बैठक में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा था कि देश की सीमा में कोई नहीं आया है, न आया था. अब राहुल गांधी ने इस बयान पर भी तीखी प्रतिक्रिया दी है. राहुल ने ट्वीट कर कहा है कि पीएम ने चीन की आक्रामकता के सामने अपनी जमीन सरेंडर कर दी है. राहुल ने सवाल किया कि यदि जमीन चीन की थी तो हमारे सैनिक कहां और क्यों शहीद हुए.

जनसत्ता एक्सप्रेस एक स्वतंत्र मंच है। जहां आपको अपनी बात रखने की, अपने विचार रखने की, अपने जज्बात रखने की खुली छूट है। पर एक बात यहां साफ कर दें कि पत्रकारिता के भी कुछ मूलभूल सिद्धांत हैं जिससे परे हम लोग भी नहीं। पर आप जनसत्ता एक्सप्रेस के साथ किसी भी रूप में जुड़ना चाहते हैं तो आपका स्वागत है। हम या आपको उतना ही आदर देंगे, सम्मान देंगे जितना अपने सहकर्मी को। इसलिए आप अपने क्षेत्र की खबरें, वीडियो हमें शेयर करें। हम उन्हें जनसत्ता एक्सप्रेस पर प्रकाशित करेंगे। इसके लिए आप jansattaexp@gmail.com का उपयोग कर सकते हैं। या फिर हमें आप whatsup भी 7678313774 पर कर सकते हैं। फोन तो आप कर ही सकते हैं। इसलिए एक नेक काम के लिए, पत्रकारिता को जिंदा रखने के लिए हमारे साथ, हमारी टीम का हिस्सा बनिए और स्वतंत्र पत्रकार, फोटोग्राफर, स्तंभकार के रूप में अपने अंदर के पत्रकार को जिंदा रखिए। हमारी टीम तो आपके साथ है ही।

राजेश राय, संपादक, जनसत्ता एक्सप्रेस

ट्रेंडिंग