उन्नाव में पत्रकार की गोली मार हत्या

कानपुर से सटे गंगाघाट थाना क्षेत्र में बेशकीमती सरकारी जमीन लूट मामले की शिकायत करने पर पत्रकार की उन्नाव-शुक्लागंज रोड पर दिनदहाड़े गोली मारकर हत्या कर दी गई। हमलावरों ने साथी संग बाइक से उन्नाव से शुक्लागंज

कानपुर से सटे गंगाघाट थाना क्षेत्र में बेशकीमती सरकारी जमीन लूट मामले की शिकायत करने पर पत्रकार की उन्नाव-शुक्लागंज रोड पर दिनदहाड़े गोली मारकर हत्या कर दी गई। हमलावरों ने साथी संग बाइक से उन्नाव से शुक्लागंज जाते समय पत्रकार पर छह गोलियां दागीं। दो गोलियां सिर में लगने से मौके पर ही उसकी मौत हो गई। बाइक चला रहे साथी ने भागकर जान बचाई। पुलिस को मौके से छह कारतूस व कई खोखे भी मिले हैं। देर शाम आइजी ने भी घटनास्थल की जांच की।

गंगाघाट कोतवाली क्षेत्र के मोहल्ला पोनी रोड झंडा चौराहा निवासी 28 वर्षीय शुभममणि त्रिपाठी की घर के नीचे मोबाइल शॉप है। वह कानपुर से प्रकाशित एक ङ्क्षहदी दैनिक के प्रतिनिधि भी थे। बीते करीब दो माह से कटरी पीपरखेड़ा क्षेत्र में सरकारी जमीनों पर हो रहे कब्जों व अवैध निर्माणों की शिकायत अधिकारियों से कर रहे थे। बताते हैं कि इसे लेकर उनकी जिले की सूचीबद्ध भू-माफिया और विश्व हिंदू परिषद नेता से रंजिश बढ़ गई थी। शुक्रवार दोपहर बाद वह अपने साथी मुख्तार अहमद के साथ बाइक से उन्नाव से शुक्लागंज लौट रहे थे। उन्नाव-शुक्लागंज मार्ग स्थित सहजनी के पास उन्हें ताबड़तोड़ कई गोलियां मारी गईं, जिससे उनकी मौत हो गई।

 

 

 

साथी मुख्तार ने एएसपी व सीओ सिटी को बताया कि विहिप नेता की गाड़ी पहले बगल से निकली। उसके बाद पीछे बाइक से आए दो युवकों ने शुभम पर गोलियां चलाईं जबकि एक बाइक पर सवार दो अन्य वहीं मौजूद रहे। उसने भागकर जान बचाई। जानकारी पर एसपी रोहन पी कनय, एएसपी उत्तरी विनोद पांडेय और सीओ सिटी यादवेंद्र यादव ने मौका मुआयना किया। एसपी ने फॉरेंसिक टीम को बुलाकर जांच करने के निर्देश दिए हैं। एडीजी जोन एसएन साबत के संज्ञान लेने के बाद देर शाम आइजी लक्ष्मी सिंह ने भी घटनास्थल आकर जांच की। उन्होंने हत्यारों की जल्द गिरफ्तारी के निर्देश एसपी व अन्य अधिकारियों को दिए। आइजी ने कहा कि घटना की जांच कराई जा रही है। जो लोग इसमें शामिल होंगे, उन्हें बख्शा नहीं जाएगा।

जनसत्ता एक्सप्रेस एक स्वतंत्र मंच है। जहां आपको अपनी बात रखने की, अपने विचार रखने की, अपने जज्बात रखने की खुली छूट है। पर एक बात यहां साफ कर दें कि पत्रकारिता के भी कुछ मूलभूल सिद्धांत हैं जिससे परे हम लोग भी नहीं। पर आप जनसत्ता एक्सप्रेस के साथ किसी भी रूप में जुड़ना चाहते हैं तो आपका स्वागत है। हम या आपको उतना ही आदर देंगे, सम्मान देंगे जितना अपने सहकर्मी को। इसलिए आप अपने क्षेत्र की खबरें, वीडियो हमें शेयर करें। हम उन्हें जनसत्ता एक्सप्रेस पर प्रकाशित करेंगे। इसके लिए आप jansattaexp@gmail.com का उपयोग कर सकते हैं। या फिर हमें आप whatsup भी 7678313774 पर कर सकते हैं। फोन तो आप कर ही सकते हैं। इसलिए एक नेक काम के लिए, पत्रकारिता को जिंदा रखने के लिए हमारे साथ, हमारी टीम का हिस्सा बनिए और स्वतंत्र पत्रकार, फोटोग्राफर, स्तंभकार के रूप में अपने अंदर के पत्रकार को जिंदा रखिए। हमारी टीम तो आपके साथ है ही।

राजेश राय, संपादक, जनसत्ता एक्सप्रेस

ट्रेंडिंग