बहू का आरोप, पूर्व डीजीपी ने कहा, मेरे से संबंध बनाओ

रांची। झारखंड के पूर्व डीजीपी डीके पांडेय पर उनकी बहू ने गंभीर आरोप जड़े हैं। बहू रेखा मिश्रा ने महिला थाने में दहेज प्रताड़ना का केस दर्ज कराते हुए आरोप लगाया है कि उनका पति शुभांकर पांडेय समलैंगिक है। जब उसने अपने

रांची झारखंड के पूर्व डीजीपी डीके पांडेय पर उनकी बहू ने गंभीर आरोप जड़े हैं। बहू रेखा मिश्रा ने महिला थाने में दहेज प्रताड़ना का केस दर्ज कराते हुए आरोप लगाया है कि उनका पति शुभांकर पांडेय समलैंगिक है। जब उसने अपने ससुर पूर्व डीजीपी डीके पांडेय और सास डॉक्टर पूनम पांडेय को इसकी जानकारी दी तो उन लोगों ने मुंह बंद रखने के लिए कहा। यहां तक की एक बार ससुर डीके पांडेय ने खुद उसके साथ संबंध बनाने की कोशिश भी की। यह भी कहा कि किसी और से संबंध बना लो। बहू का आरोप है कि 3 साल पहले उसकी शादी शुभांकर से हुई थी। शादी के बाद से ही शुभांकर की उसमें रुचि नहीं रही। रेखा मिश्रा ने एफआईआर में पति, ससुर और सास को भी आरोपी बनाया है।

 

रेखा मिश्रा ने कहा कि शादी के बाद से ही दहेज की मांग को लेकर पति, सास व ससुर ताना देने लगे। उन्होंने शनिवार को महिला थाने पहुंचकर ससुर, सास व पति को आरोपित बनाते हुए प्राथमिकी दर्ज कराई है।

 

रेखा मिश्रा ने एफआईआर में कहा है कि शादी के दूसरे दिन पता चला कि उसका पति समलैंगिक है। जब यह बात उसने अपने ससुर डीजीपी डीके पांडेय और सास को बताई तो उन्‍होंने कहा कि मेडिकल प्रॉब्‍लम है। इलाज के बाद ठीक हो जाएगा। इस पर विश्‍वास करते हुए उसने 3 साल गुजार दिए।

काफी इंतजार करने के बाद भी जब कुछ ठीक नहीं हुआ तो पति, सास और ससुर ने सुखद वैवाहिक जीवन गुजारने के लिए दूसरों के साथ संबंध बनाने के लिए कहा। एक बार शादी समारोह में ससुर ने खुद के साथ शारीरिक संबंध बनाने के लिए कहा। ससुर की इस हरकत से मुझे काफी परेशानी हुई और मैं मानसिक तौर पर काफी परेशान रहने लगी।

 

यहां तक की आत्‍महत्‍या तक करने की सोचने लगी। सास मुझे शुभांकर से दूर रखने के लिए एनजीओ में बिजी रहने के लिए कहती थी। पुलिस के अनुसार, रेखा मिश्रा भाजपा नेता गणेश मिश्रा की बेटी है। दो दिन पहले गणेश मिश्रा अपनी बेटी से कोतवाली डीएसपी से मिले थे। इसके बाद शनिवार को महिला थाना में प्राथमिकी दर्ज कराई गई।

झारखंड के पूर्व डीजीपी डीके पांडेय इससे पूर्व भी कई मामलों को लेकर विवादों में रहे हैं। रांची के कांके में पत्नी के नाम पर गैरमजरूआ जमीन की गलत तरीके से बंदोबस्ती कराकर उस पर घर बनाने के मामले में वह विवादों में रहे। इसके अलावा पलामू के बकोरिया कांड में भी उनपर संलिप्तता के आरोप लगे थे।

जनसत्ता एक्सप्रेस एक स्वतंत्र मंच है। जहां आपको अपनी बात रखने की, अपने विचार रखने की, अपने जज्बात रखने की खुली छूट है। पर एक बात यहां साफ कर दें कि पत्रकारिता के भी कुछ मूलभूल सिद्धांत हैं जिससे परे हम लोग भी नहीं। पर आप जनसत्ता एक्सप्रेस के साथ किसी भी रूप में जुड़ना चाहते हैं तो आपका स्वागत है। हम या आपको उतना ही आदर देंगे, सम्मान देंगे जितना अपने सहकर्मी को। इसलिए आप अपने क्षेत्र की खबरें, वीडियो हमें शेयर करें। हम उन्हें जनसत्ता एक्सप्रेस पर प्रकाशित करेंगे। इसके लिए आप jansattaexp@gmail.com का उपयोग कर सकते हैं। या फिर हमें आप whatsup भी 7678313774 पर कर सकते हैं। फोन तो आप कर ही सकते हैं। इसलिए एक नेक काम के लिए, पत्रकारिता को जिंदा रखने के लिए हमारे साथ, हमारी टीम का हिस्सा बनिए और स्वतंत्र पत्रकार, फोटोग्राफर, स्तंभकार के रूप में अपने अंदर के पत्रकार को जिंदा रखिए। हमारी टीम तो आपके साथ है ही।

राजेश राय, संपादक, जनसत्ता एक्सप्रेस

ट्रेंडिंग