विकास दूबे को लेकर चौबेपुर के SHO विनय तिवारी सस्पेंड

कानपुर गोलीकांड मामले में कानपुर पुलिस ने बड़ी कार्रवाई की है. पुलिस ने इस मामले में चौबेपुर के थानाध्यक्ष विनय तिवारी को सस्पेंड कर दिया है. कानपुर के आईजी मोहित अग्रवाल ने ये कार्रवाई की है. बता दें कि पुलिस की अबतक की जांच में ये बात सामने आई है कि पुलिस से ही जुड़े कुछ अफसरों ने अपराधी विकास दुबे को पुलिस रेड की पूर्व सूचना दे दी थी.

कानपुर गोलीकांड मामले में कानपुर पुलिस ने बड़ी कार्रवाई की है. पुलिस ने इस मामले में चौबेपुर के थानाध्यक्ष विनय तिवारी को सस्पेंड कर दिया है. कानपुर के आईजी मोहित अग्रवाल ने ये कार्रवाई की है. बता दें कि पुलिस की अबतक की जांच में ये बात सामने आई है कि पुलिस से ही जुड़े कुछ अफसरों ने अपराधी विकास दुबे को पुलिस रेड की पूर्व सूचना दे दी थी.

पुलिस की जांच में चौबेपुर के थानाध्यक्ष और कुछ दूसरे सिपाहियों का नाम आया था. विनय तिवारी चौबेपुर के थानाध्यक्ष हैं. इस जानकारी के आधार पर कार्रवाई करते हुए पुलिस ने विनय तिवारी को सस्पेंड कर दिया है.

पुलिस को शक है कि विनय तिवारी ने ही गैंगस्टर विकास दुबे को उसके घर में रेड की सूचना दी है. सूत्रों के मुताबिक विनय तिवारी से एसटीएफ ने पिछले शाम को पूछताछ की थी. जांच में पता चला है कि विनय तिवारी ने कुछ दिनों पहले विकास दुबे के खिलाफ शिकायत दर्ज करने से इनकार कर दिया था.पुलिस अब विनय तिवारी के खिलाफ एफआईआर दर्ज करने की तैयारी कर रही है.विनय तिवार के खिलाफ FIR दर्ज की जा सकती है.

आजतक ने इस मामले में चौबेपुर के थानाध्यक्ष विनय तिवारी से बात करने की कोशिश की. लेकिन विनय तिवारी कुछ भी बोलने से इनकार करते रहे. विनय तिवारी ने कहा कि पूरे मामले की जानकारी वरिष्ठ अधिकारी द्वारा दी जाएगी. आजतक ने विनय तिवारी से कहा कि पुलिस पर गंभीर आरोप लग रहे हैं, लेकिन जवाब देने के बजाय विनय तिवारी चुप्पी साधकर आगे बढ़ गए.

जनसत्ता एक्सप्रेस एक स्वतंत्र मंच है। जहां आपको अपनी बात रखने की, अपने विचार रखने की, अपने जज्बात रखने की खुली छूट है। पर एक बात यहां साफ कर दें कि पत्रकारिता के भी कुछ मूलभूल सिद्धांत हैं जिससे परे हम लोग भी नहीं। पर आप जनसत्ता एक्सप्रेस के साथ किसी भी रूप में जुड़ना चाहते हैं तो आपका स्वागत है। हम या आपको उतना ही आदर देंगे, सम्मान देंगे जितना अपने सहकर्मी को। इसलिए आप अपने क्षेत्र की खबरें, वीडियो हमें शेयर करें। हम उन्हें जनसत्ता एक्सप्रेस पर प्रकाशित करेंगे। इसके लिए आप jansattaexp@gmail.com का उपयोग कर सकते हैं। या फिर हमें आप whatsup भी 7678313774 पर कर सकते हैं। फोन तो आप कर ही सकते हैं। इसलिए एक नेक काम के लिए, पत्रकारिता को जिंदा रखने के लिए हमारे साथ, हमारी टीम का हिस्सा बनिए और स्वतंत्र पत्रकार, फोटोग्राफर, स्तंभकार के रूप में अपने अंदर के पत्रकार को जिंदा रखिए। हमारी टीम तो आपके साथ है ही।

राजेश राय, संपादक, जनसत्ता एक्सप्रेस

ट्रेंडिंग