नीतीश कुमार भी हो सकते हैं कोरोना पाजिटिव, अवधेश नरायण सिंह के संपर्क में आए

पटना: बिहार के सीएम नीतीश कुमार और डिप्टी सीएम सुशील मोदी ने अपना कोरोना टेस्ट कराया है. दरअसल यह दोनों विधान परिषद के सभापति अवधेश नरायण सिंह के संपर्क में आए थे जो कि कोरोना पॉजिटिव पाए गए हैं.मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के साथ ही उनके चारों सचिव का कोविड-19 का टेस्ट हुआ है.

पटना: बिहार के सीएम नीतीश कुमार और डिप्टी सीएम सुशील मोदी ने अपना कोरोना टेस्ट कराया है. दरअसल यह दोनों विधान परिषद के सभापति अवधेश नरायण सिंह के संपर्क में आए थे जो कि कोरोना पॉजिटिव पाए गए हैं.मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के साथ ही उनके चारों सचिव का कोविड-19 का टेस्ट हुआ है.

 

सभी का आज दोपहर करीब 2.30 बजे सैंपल लिया गया. अब टेस्ट रिपोर्ट का इंतज़ार है. वहीं डिप्टी सीएम सुशील मोदी और उनके साथ रहने वाले सभी सरकारी और गैर सरकारी कर्मचारियों का कोविड-19 का टेस्ट हुआ है.

 

दो दिन पहले ही नौ नए एमएलसी का शपथ ग्रहण समारोह आयोजित हुआ था. इस शपथ ग्रहण समारोह में विधान परिषद के सभापति अवधेश नारायण सिंह, मुख्यमंत्री नीतीश कुमार और डिप्टी सीएम सुशील मोदी भी शामिल हुए थे.

 

बता दें बिहार विधान परिषद के सभापति अवधेश नारायण सिंह  के साथ ही उनकी पत्नी और बेटे समेत पांच परिवार के सदस्य भी कोरोना से संक्रमित पाए गए हैं. इन सभी को पटना एम्स के आइसोलेशन वार्ड में रखा जाएगा.

 

अवधेश नारायण सिंह की उम्र 71 साल है. वह जून महीने में सभापति बनाए गए थे. उन्होंने आरजेडी के पांच एमएलसी को जेडीयू में शामिल होने की मान्यता दी थी. अवधेश नारायण सिंह की पहली दो टेस्ट जांच निगेटिव पाई गई थी लेकिन तीसरी जांच में वह पॉजिटिव निकले.

जनसत्ता एक्सप्रेस एक स्वतंत्र मंच है। जहां आपको अपनी बात रखने की, अपने विचार रखने की, अपने जज्बात रखने की खुली छूट है। पर एक बात यहां साफ कर दें कि पत्रकारिता के भी कुछ मूलभूल सिद्धांत हैं जिससे परे हम लोग भी नहीं। पर आप जनसत्ता एक्सप्रेस के साथ किसी भी रूप में जुड़ना चाहते हैं तो आपका स्वागत है। हम या आपको उतना ही आदर देंगे, सम्मान देंगे जितना अपने सहकर्मी को। इसलिए आप अपने क्षेत्र की खबरें, वीडियो हमें शेयर करें। हम उन्हें जनसत्ता एक्सप्रेस पर प्रकाशित करेंगे। इसके लिए आप jansattaexp@gmail.com का उपयोग कर सकते हैं। या फिर हमें आप whatsup भी 7678313774 पर कर सकते हैं। फोन तो आप कर ही सकते हैं। इसलिए एक नेक काम के लिए, पत्रकारिता को जिंदा रखने के लिए हमारे साथ, हमारी टीम का हिस्सा बनिए और स्वतंत्र पत्रकार, फोटोग्राफर, स्तंभकार के रूप में अपने अंदर के पत्रकार को जिंदा रखिए। हमारी टीम तो आपके साथ है ही।

राजेश राय, संपादक, जनसत्ता एक्सप्रेस

ट्रेंडिंग