कोंकण में अगले 24 घंटे; गुजरात में 6 जुलाई के बीच भारी वर्षा की चेतावनी

भारतीय मौसम विज्ञान विभाग (आईएमडी) के राष्ट्रीय मौसम पूर्वानुमान केंद्र/क्षेत्रीय मौसम विज्ञान केंद्र, नई दिल्ली के अनुसार: पश्चिमी तट के साथ अरब सागर से चलने वाली तेज़ नम और दक्षिण-पश्चिम हवाओं के रुख एवं दक्षिण गुजरात में एक चक्रवाती वायु

भारतीय मौसम विज्ञान विभाग (आईएमडी) के राष्ट्रीय मौसम पूर्वानुमान केंद्र/क्षेत्रीय मौसम विज्ञान केंद्र, नई दिल्ली के अनुसार: पश्चिमी तट के साथ अरब सागर से चलने वाली तेज़ नम और दक्षिण-पश्चिम हवाओं के रुख एवं दक्षिण गुजरात में एक चक्रवाती वायु संचरण तथा इससे सटे क्षेत्रों में निचले ट्रोपोस्फेरिक स्तरों के कारण गुजरात राज्य में भारी से बहुत भारी वर्षा के साथ व्यापक रूप से वर्षा होने की संभावना है। आगामी 4 से 5 दिनों के दौरान गुजरात क्षेत्र में और अगले 2 दिनों के दौरान कोंकण और गोवा में भारी वर्षा होने की संभावना है। 04 से 06 जुलाई के दौरान गुजरात क्षेत्र और आगामी 04 दिनों के दौरान सौराष्ट्र और कच्छ में भारी वर्षा की संभावना है।

 उत्तर आंध्र प्रदेश और दक्षिण ओडिशा तट से सटी पश्चिमोत्तर बंगाल की खाड़ी और पश्चिमी मध्य तट पर एक चक्रवाती वायु का दबाव बना हुआ है और इसके औसत समुद्र तल से लगभग 7.6 किमी ऊपर तक बढ़ने की संभावना है। इसके कारण, आगामी 4 से 5 दिनों के दौरान पूर्व और मध्य भारत के आसपास के क्षेत्रों में भारी से बहुत भारी वर्षा के साथ-साथ व्यापक वर्षा/गरज के साथ वर्षा होने की संभावना है।

औसत समुद्री तल पर मॉनसून अब अपनी सामान्य स्थिति में पहुँच चुका है और अगले 24 घंटों में इसके और अधिक सक्रिय होने की संभावना है। अरब सागर से चलने वाली तेज़ नम पश्चिमी और दक्षिण-पश्चिमी हवाओं का रुख भारत के उत्तर-पश्चिमी मैदानों की तरफ होने की संभावना है। इसके प्रभाव से, आगामी 4 से 5 दिनों के दौरान उत्तर पश्चिमी भारत के कुछ हिस्सों में भारी वर्षा के साथ व्यापक रूप से वर्षा होने की संभावना है।

तीव्र आंधी और आकाशीय बिजली से प्रभावित होने वाले संभावित क्षेत्र: अगले 12 घंटों के दौरान जम्मू क्षेत्र, हिमाचल प्रदेश, उत्तराखंड, उत्तर प्रदेश, मध्य प्रदेश, पूर्वी राजस्थान, छत्तीसगढ़, झारखंड, बिहार, आंध्र प्रदेश के तटीय क्षेत्र और यानम, ओडिशा, पश्चिम बंगाल के गंगीय क्षेत्रों और गुजरात में मध्यम से तीव्र गरज के साथ वर्षा और आकाशीय बिजली की आशंका है।

जनसत्ता एक्सप्रेस एक स्वतंत्र मंच है। जहां आपको अपनी बात रखने की, अपने विचार रखने की, अपने जज्बात रखने की खुली छूट है। पर एक बात यहां साफ कर दें कि पत्रकारिता के भी कुछ मूलभूल सिद्धांत हैं जिससे परे हम लोग भी नहीं। पर आप जनसत्ता एक्सप्रेस के साथ किसी भी रूप में जुड़ना चाहते हैं तो आपका स्वागत है। हम या आपको उतना ही आदर देंगे, सम्मान देंगे जितना अपने सहकर्मी को। इसलिए आप अपने क्षेत्र की खबरें, वीडियो हमें शेयर करें। हम उन्हें जनसत्ता एक्सप्रेस पर प्रकाशित करेंगे। इसके लिए आप jansattaexp@gmail.com का उपयोग कर सकते हैं। या फिर हमें आप whatsup भी 7678313774 पर कर सकते हैं। फोन तो आप कर ही सकते हैं। इसलिए एक नेक काम के लिए, पत्रकारिता को जिंदा रखने के लिए हमारे साथ, हमारी टीम का हिस्सा बनिए और स्वतंत्र पत्रकार, फोटोग्राफर, स्तंभकार के रूप में अपने अंदर के पत्रकार को जिंदा रखिए। हमारी टीम तो आपके साथ है ही।

राजेश राय, संपादक, जनसत्ता एक्सप्रेस

ट्रेंडिंग