यौन शोषण के मामले में एक मान्यता पत्रकार पर केस दर्ज

मध्यप्रदेश की राजधानी भोपाल में चार नाबालिग लड़कियों सहित पांच लड़कियों से कथित तौर पर यौन शोषण कराने के मामला सामने आया है। इस मामले में एक वरिष्ठ पत्रकार एवं इस अनैतिक काम में उसकी मदद करने वाली एक युवती के

मध्यप्रदेश की राजधानी भोपाल में चार नाबालिग लड़कियों सहित पांच लड़कियों से कथित तौर पर यौन शोषण कराने के मामला सामने आया है। इस मामले में एक वरिष्ठ पत्रकार एवं इस अनैतिक काम में उसकी मदद करने वाली एक युवती के खिलाफ रविवार को यहां प्राथमिकी दर्ज की गई है। आरोपी युवती को पुलिस ने हिरासत में ले लिया है, जबकि पत्रकार फरार है।

वहीं, मुख्यमंत्री ने इस घटना के बाद प्यारे मिया के शासकीय आवास को खाली कराने और अधिमान्यता समाप्त करने का आदेश दिया है। मुख्यमंत्री ने कहा कि ऐसे लोग पत्रकारिता को बदनाम करते है।
भोपाल (दक्षिण) के पुलिस अधीक्षक साई कृष्ण थोटा ने बताया कि पांच लड़कियों का यौनशोषण करने के मामले में शहर के रातीबड़ पुलिस थाने में रविवार को जीरो पर प्यारे मिया (68) और एक महिला दलाल स्वीटी विश्वकर्मा (21) के खिलाफ बलात्कार और पॉक्सो एक्ट के तहत मामला दर्ज किया गया है। उन्होंने कहा कि स्वीटी को पकड़ लिया है और प्यारे मिया फरार हैं। उसकी तलाश जारी है।

उन्होंने कहा कि इस मामले को शहर के शाहपुरा थाने में भेजा जाएगा, क्योंकि उस इलाके में इनके साथ यौनशोषण हुआ था। थोटा ने बताया कि रातीबड़ थाने इलाके में रविवार तड़के करीब दो से तीन बजे के बीच पांच लड़कियां शराब के नशे में घूमती मिली थीं। इनमें से चार नाबालिग हैं, जबकि एक बालिग है।

उन्होंने कहा कि पुलिस ने चाइल्ड हेल्पलाइन को बुलाकर लड़कियों से पूछताछ की तो उन्होंने बताया कि प्यारे मिया नाम का एक आरोपी है, जिन्होंने इनको शहर के शाहपुरा थाने इलाके स्थित 12 नंबर में एक फ्लैट में शनिवार-रविवार रात को ‘बर्थ डे पार्टी ’ के लिए बुलाया था।

थोटा ने बताया कि इनमें से एक लड़की ने बताया कि वहां पर उसके साथ बलात्कार किया गया। वहीं, बाकी चार लड़कियों का कहना है कि पार्टी के नाम से बुलाकर प्यारे मिया ने उसी फ्लैट में उनके साथ भी पहले बलात्कार किया है। इसी बीच, रातीबड़ पुलिस थाने के उपनिरीक्षक संजीव जाखड़ ने बताया कि प्यारे मिया पत्रकार है।

उन्होंने कहा कि ये लड़कियां भटकते-भटकते रातीबड़ पुलिस थाने इलाके में आ गई थी। इसलिए हमारे थाने में ‘जीरो एफआईआर’ दर्ज किया गया और इसे शाहपुरा थाने को भेज दिया गया है। शाहपुरा थाना पुलिस ही इस मामले की विस्तृत जांच करेगी।

 

जनसत्ता एक्सप्रेस एक स्वतंत्र मंच है। जहां आपको अपनी बात रखने की, अपने विचार रखने की, अपने जज्बात रखने की खुली छूट है। पर एक बात यहां साफ कर दें कि पत्रकारिता के भी कुछ मूलभूल सिद्धांत हैं जिससे परे हम लोग भी नहीं। पर आप जनसत्ता एक्सप्रेस के साथ किसी भी रूप में जुड़ना चाहते हैं तो आपका स्वागत है। हम या आपको उतना ही आदर देंगे, सम्मान देंगे जितना अपने सहकर्मी को। इसलिए आप अपने क्षेत्र की खबरें, वीडियो हमें शेयर करें। हम उन्हें जनसत्ता एक्सप्रेस पर प्रकाशित करेंगे। इसके लिए आप jansattaexp@gmail.com का उपयोग कर सकते हैं। या फिर हमें आप whatsup भी 7678313774 पर कर सकते हैं। फोन तो आप कर ही सकते हैं। इसलिए एक नेक काम के लिए, पत्रकारिता को जिंदा रखने के लिए हमारे साथ, हमारी टीम का हिस्सा बनिए और स्वतंत्र पत्रकार, फोटोग्राफर, स्तंभकार के रूप में अपने अंदर के पत्रकार को जिंदा रखिए। हमारी टीम तो आपके साथ है ही।

राजेश राय, संपादक, जनसत्ता एक्सप्रेस

ट्रेंडिंग