देशवासियों के लिए बड़ी खबर, एम्स पटना में दी गई 10 वालेंटियर्स को कोरोना वैक्सीन

नई दिल्ली: आईसीएमआर (ICMR) और भारत बायोटेक मिलकर कोरोना वायरस (coronavirus) के लिए जो वैक्सीन बना रहे हैं उसके ह्यूमन ट्रायल शुरू हो चुके हैं. भारत बायोटेक के मुताबिक, 375 वॉलेंटियर्स पर यह ह्यूमन ट्रायल किए जाएंगे.

नई दिल्ली: आईसीएमआर (ICMR) और भारत बायोटेक मिलकर कोरोना वायरस (coronavirus) के लिए जो वैक्सीन बना रहे हैं उसके ह्यूमन ट्रायल शुरू हो चुके हैं. भारत बायोटेक के मुताबिक, 375 वॉलेंटियर्स पर यह ह्यूमन ट्रायल किए जाएंगे. यह ट्रायल कुल 3 चरणों में होंगे और पहले चरण की शुरुआत हो चुकी है.

एम्स (AIIMS) समेत भारत के 12 संस्थान इस ह्यूमन ट्रायल में हिस्सा ले रहे हैं. एम्स पटना में 10 वालेंटियर्स को यह वैक्सीन दी गई है और अभी तक किसी भी वालेंटियर में कोई साइड इफेक्ट होने की जानकारी नहीं है. यह खबर वैज्ञानिकों का हौसला बढ़ा रही है. 

 

 

एम्स पटना के बाद पीजीआई अस्पताल रोहतक में भी 3 वालेंटियर्स को वैक्सीन दी गई और सभी ठीक हैं. कल हरियाणा के स्वास्थ्य मंत्री अनिल विज ने ट्वीट के जरिए यह जानकारी दी है.

हालांकि सबसे बड़े पैमाने पर इस वैक्सीन का परीक्षण दिल्ली स्थित अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान यानी एम्स में होगा. यह ट्रायल कुल 375 लोगों पर होना है इनमें से 100 वॉलेंटियर्स पर एम्स में परीक्षण होगा.

बता दें कि देश में कोरोना का कहर जारी है. पिछले तीन दिन से 30 हजार से ज्यादा नए मामले सामने आ रहे हैं. केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय द्वारा शनिवार सुबह जारी आंकड़ों के अनुसार देश में कोरोना वायरस के मामले बढ़कर 10,38,716, हो गए हैं जबकि एक दिन में 671 लोगों की मौत के साथ मृतकों का आंकड़ा 26,273 हो गया है. भारत में फिलहाल 6,53,751 लोग इस महामारी से ठीक हुए हैं जबकि 3,58,692 मरीजों का अब भी इलाज चल रहा है. 

जनसत्ता एक्सप्रेस एक स्वतंत्र मंच है। जहां आपको अपनी बात रखने की, अपने विचार रखने की, अपने जज्बात रखने की खुली छूट है। पर एक बात यहां साफ कर दें कि पत्रकारिता के भी कुछ मूलभूल सिद्धांत हैं जिससे परे हम लोग भी नहीं। पर आप जनसत्ता एक्सप्रेस के साथ किसी भी रूप में जुड़ना चाहते हैं तो आपका स्वागत है। हम या आपको उतना ही आदर देंगे, सम्मान देंगे जितना अपने सहकर्मी को। इसलिए आप अपने क्षेत्र की खबरें, वीडियो हमें शेयर करें। हम उन्हें जनसत्ता एक्सप्रेस पर प्रकाशित करेंगे। इसके लिए आप jansattaexp@gmail.com का उपयोग कर सकते हैं। या फिर हमें आप whatsup भी 7678313774 पर कर सकते हैं। फोन तो आप कर ही सकते हैं। इसलिए एक नेक काम के लिए, पत्रकारिता को जिंदा रखने के लिए हमारे साथ, हमारी टीम का हिस्सा बनिए और स्वतंत्र पत्रकार, फोटोग्राफर, स्तंभकार के रूप में अपने अंदर के पत्रकार को जिंदा रखिए। हमारी टीम तो आपके साथ है ही।

राजेश राय, संपादक, जनसत्ता एक्सप्रेस

ट्रेंडिंग